उत्तराखंड पॉलीहाउस योजना 2024 रजिस्ट्रेशन, Polyhouse Yojana Apply

Uttarakhand Polyhouse Yojana राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में रोजगार के अवसर बढ़ाने और किसानों की आमदनी में वृद्धि करने के लिए उत्तराखंड सरकार द्वारा एक नई योजना की शुरुआत की गई है। जिसका नाम उत्तराखंड पॉलीहाउस योजना है। पॉलीहाउस के लिए उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी के द्वारा राज्य कैबिनेट बैठक के दौरान 304 करोड़ पर की मंजूरी प्रदान की गई है। उत्तराखंड पॉलीहाउस योजना के माध्यम से राज्य के पर्वतीय जिलों में खेती बागवानी के क्षेत्र में रोजगार को बढ़ावा दिया जाएगा। अगर आप भी उत्तराखंड के किसान है और आपने आमदनी में सुधार करना चाहते हैं तो यह योजना आपके लिए काफी लाभदायक सिद्ध होगी। आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Uttarakhand Polyhouse Yojana 2024 से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराएंगे। इसलिए आपको यह आर्टिकल विस्तारपूर्वक अंत तक पढ़ना होगा।

Uttarakhand

Uttarakhand Polyhouse Yojana 2024

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी जी के द्वारा राज्य के किसानों के लिए उद्यान विभाग की सहायता से पॉलीहाउस योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के माध्यम से राज्य के एक लाख से अधिक कृषकों को रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। उत्तराखंड पॉलीहाउस योजना के तहत राज्य के पर्वतीय जिलों में खेती और बागवानी के माध्यम से किसानों को रोजगार के अवसर पैदा कराए जाएंगे। हिमाचल राज्य की तर्ज पर इस योजना को शुरू किया गया है।

मुख्यमंत्री जी के द्वारा उत्तराखंड पॉलीहाउस योजना के लिए 304 करोड़ रुपए की मंजूरी दी गई है। इस योजना के तहत किसान पॉलीहाउस में किसी भी फसल को किसी भी सीजन में लगा सकते हैंं और अच्छी उपज का लाभ प्राप्त कर सकते हैंं। बेमौसम में सब्जियों की खेती पॉलीहाउस में करने से बाजार में उनकी मांग अधिक होगी। जिससे किसानों को अच्छी कीमत मिलेगी और अधिक मुनाफा होगा। किसानों को पॉलीहाउस बनाने पर सरकार द्वारा सब्सिडी प्रदान की जाएगी। यह योजना किसानों की आर्थिक समस्याओं को दूर कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाएगी।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना

उत्तराखंड पॉलीहाउस योजना के बारे में जानकारी

योजना का नाम Uttarakhand Polyhouse Yojana
संबंधित विभाग उद्यान विभाग
लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य किसानों को रोजगार के अवसर प्रदान करना
लाभ किसानों को पॉलीहाउस स्थापना के लिए 70% अनुदान
राज्य उत्तराखंड
साल 2023
आवेदन प्रक्रिया ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट https://shm.uk.gov.in/

Uttarakhand Polyhouse Yojana का उद्देश्य

उत्तराखंड सरकार द्वारा पॉलीहाउस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य राज्य के किसानों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराना और राज्य में किसानों की आय में वृद्धि करना है ताकि उत्तराखंड में बेमौसमी सब्जियों और फूलों की खेती को संरक्षण देने हेतु पॉलीहाउस योजना को बढ़ावा दिया जा रहा है। इसके लिए उत्तराखंड सरकार द्वारा किसानों को पॉलीहाउस लगाने हेतु 70% अनुदान दिया जाएगा।

उत्तराखंड पॉलीहाउस योजना के लाभ

उत्तराखंड सरकार द्वारा पॉलीहाउस योजना के तहत राज्य के किसानों को पॉलीहाउस निर्माण के लिए कई प्रकार के लाभ प्रदान कीए जाएंगे। जिनका विवरण निम्न प्रकार है।

  • राज्य में कलेक्टर आधारित छोटे पॉलीहाउस में फल, सब्जी एवं फूलो की खेती के लिए सहायता प्रदान की जाएगी।
  • क्लस्टर पर आधारित 100 वर्ग मीटर आकार के 17648 पॉलीहाउस के निर्माण हेतु सरकार द्वारा 304 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे।
  • इस योजना के माध्यम से किसानों को 70% सब्सिडी पॉलीहाउस निर्माण के लिए दी जाएगी।
  • साथ ही सब्जियों के उत्पादन में 15% एवं फूलों के उत्पाद में 25% तक वृद्धि होगी।
  • Polyhouse Yojana के माध्यम से किसानों की आय में वृद्धि होगी।
  • किसानों की सामाजिक आर्थिक स्थिति में सुधार होगा।
  • यह योजना पर्वतीय क्षेत्रों में होने वाले पलायन को रोकने में सहायता करेगी।

Gaura Devi Kanya Dhan Yojana

Uttarakhand Polyhouse Yojana 2024 की विशेषताएं

  • राज्य में बेहतर उपज हो सकेगी।
  • फसलों को कीटों और बीमारियों से सुरक्षित किया जा सकेगा।
  • उच्च गुणवत्ता वाली फसलों का उत्पादन होगा।
  • कम फसल अवधि होगी।
  • बेहतर वित्तीय वेतन का लाभ मिलेगा।
  • पैदावार लगभग 5 से 10 गुना अधिक होगी।
  • जल संरक्षण हो सकेगा।

Polyhouse के प्रकार

पॉलीहाउस निम्न प्रकार के होते हैं। जो कि पर्यावरण नियंत्रण प्रणाली पर आधारित होते हैं।

  1. स्वाभाविक रूप से हवादार पॉलीहाउस– यह सबसे सरल प्रकार का पॉलीहाउस होता है जिसमें किसी भी प्रकार के यांत्रिक वेंटीलेशन की आवश्यकता नहीं होती है। वे तापमान और आद्रता को नियंत्रित करने के लिए प्राकृतिक वायु प्रभाव पर भरोसा करते हैं। हवादार पॉलीहाउस उन फसलों को उगाने के लिए आदर्श जिन्हें उच्च तापमान की आवश्यकता नहीं होती है और तापमान में कुछ उतार-चढ़ाव को भी सहन कर सकते हैंं।
  2. मल्टी स्पेन पॉलीहाउस– यह बड़े पॉलीहाउस होते हैं जो कई स्ट्रक्चर से मिलकर बने होते हैं। इसमें प्रत्येक सेक्शन का अपना अलग वेंटीलेशन सिस्टम होता है। यह पॉलीहाउस टमाटर खीरे और मैं जैसी फसलों को बड़े पैमाने पर व्यवसाय खेती के लिए आदर्श माने जाते हैं।
  3. फैन एंड पैड पॉलीहाउस– यह पॉलीहाउस पंखे और पेट कॉलिंग सिस्टम से मुक्त होते हैं। जो पॉलीहाउस के अंदर एक निश्चित तापमान और आद्रता बनाए रखने में सहायता करते हैं। गीले

पैड के माध्यम से पंखा हवा खींचता है और इससे ठंडा करता है। नमी को कम करता है। जिनके लिए अधिक स्थिर वातावरण की आवश्यकता होती है यह उन फसलों को उगाने के लिए आदर्श है। जैसे कि उच्च मूल्य वाली फसलें सब्जियां और फूल आदि।

  • कम लागत वाले पॉलीहाउस– कम लागत वाले पॉलीहाउस जो कि कम लागत वाली सामग्री जैसे बांस, लकड़ी के खंभे और स्थाई रूप से उपलब्ध पॉलीथिन शीट से बने साधारण होते हैं। यह छोटे पैमाने के किसानों के लिए और विभिन्न प्रकार की फसलें उगाने में भी इसका उपयोग किया जा सकता है।
  • शेड नेट पॉलीहाउस– यह पॉलीहाउस शेड नेट से चारों ओर से ढके होते हैं जो फसलो तक सूर्य के प्रकाश की मात्रा को सीधे कम करने में सहायता करता है जिन्हें आंशिक छाया की आवश्यकता होती है जैसे आर्किड और फर्न आदि फसलों को उगाने में शेड नेट पॉलीहाउस आदर्श है।

पॉलीहाउस में उगाई जाने वाली फसलों की सूची

ग्रीनहाउस को पॉलीहाउस के नाम से भी जाना जाता है। जिसमें आप एक नियंत्रित वातावरण में साल भर फसलों की खेती कर सकते हैंं। पॉलीहाउस में उगाई जाने वाली फसलों का चयन क्षेत्र की जलवायु, उत्पादकता आदि के आधार पर करना होता है। पॉलीहाउस में उगाई जाने वाली फसलों की सूची नीचे दी गई है जिसे आप देख सकते हैंं।

  • सलाद पत्ता
  • टमाटर
  • खीरा
  • मटर
  • ब्रोकली
  • स्ट्रॉबेरी
  • काली मिर्च
  • पत्तेदार साग
  • पालक
  • मूली
  • गाजर
  • फूलगोभी
  • माइक्रोग्रीन्स
  • खरबूजा
  • तरबूज
  • फलिया
  • बैंगन
  • जड़ी बूटियां (तुलसी टकसाल)
  • कद्दू
  • तुरई

उत्तराखंड शादी अनुदान योजना

Polyhouse के लिए कितनी जमीन होनी चाहिए?

यदि आप Polyhouse लगाना चाहते हैं तो इसके लिए 750 से 1000 रुपए प्रति वर्ग मीटर का खर्च करना पड़ता है। कम से कम 1 एकड़ में पॉलीहाउस बनाए जा सकते हैंं। 1 एकड़ से कम जमीन में पॉलीहाउस का निर्माण करने में लागत कम आती है। पॉलीहाउस लगवाने में आने वाला खर्च पॉलीहाउस की आकार, स्थान, गुणवत्ता पर निर्भर करता है।

उत्तराखंड पॉलीहाउस योजना के लिए पात्रता

  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को उत्तराखंड का मूल निवासी होना चाहिए।
  • केवल राज्य के किसान ही इस योजना का लाभ लेने हेतु पात्र होंगे।
  • आवेदक किसान के पास स्वयं की भूमि होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार के पास सिंचाई के साधन पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध होने चाहिए।

Polyhouse Yojana के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • भूमि संबंधित दस्तावेज
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

उत्तराखंड पॉलीहाउस योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • Uttarakhand Polyhouse Yojana का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को अपने नजदीकी ब्लॉक कार्यालय या जिला उद्यान कार्यालय में जाना होगा।
  • वहां जाकर आपको योजना के तहत आवेदन करने हेतु फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के बाद आपको उसमें मांगी गई सभी आवश्यक जानकारी को ध्यानपूर्वक दर्ज करना होगा।
  • उसके बाद आपको फॉर्म में मांगे गए सभी जरूरी दस्तावेजों को संलग्न करना होगा।
  • इसके बाद आपको यह आवेदन फॉर्म वापस वहीं जमा कर देना होगा जहां से आप ने प्राप्त किया था।
  • इस प्रकार आपकी उत्तराखंड पॉलीहाउस योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

Uttarakhand Polyhouse Yojana FAQs

उत्तराखंड पॉलीहाउस योजना के तहत पॉलीहाउस के लिए कितनी जमीन होनी चाहिए? Uttarakhand Polyhouse Yojana के तहत पॉलीहाउस के लिए 1 एकड़ से कम जमीन होनी चाहिए। किसानों को पॉली हाउस के निर्माण के लिए उत्तराखंड सरकार द्वारा कितनी सब्सिडी प्रदान की जाएगी? किसानों को पॉलीहाउस के निर्माण के लिए सरकार द्वारा 70% सब्सिडी प्रदान की जाएगी। उत्तराखंड सरकार द्वारा पॉलीहाउस योजना के संचालन के लिए कितने रुपए खर्च किए जाएंगे। इस योजना के तहत सरकार द्वारा 304 पर रुपए खर्च किए जाएंगे। क्या पॉलीहाउस में बेमौसम की सब्जियां उगा सकते हैंं? हां पॉलीहाउस में बेमौसम की सब्जियां उगा सकते हैंं।


Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *