मुख्यमंत्री मधु विकास योजना से हिमाचल के बेरोजगार युवाओं को मिल रहा है रोजगार

Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana – हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए कई प्रकार की योजना संचालित की जा रही है ताकि लोगों को अच्छी कमाई का जरिया मिल सके और अपनी मेहनत और सरकार की मदद से इन योजनाओं का लाभ प्राप्त कर लाभार्थी अपने परिवार का भरण पोषण कर सके। इसी प्रकार हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री मधु विकास योजना शुरू की गई है। इस योजना के माध्यम से ऊना जिला के बागवान लाखों रुपए घर पर ही आसानी से कमा रहे है। हिमाचल प्रदेश सरकार ने शहर के व्यावसायिक उत्पादन में क्रांति लाने के लिए 10 करोड़ रुपए की मुख्यमंत्री मधु विकास योजना शुरू की है ताकि बेरोजगार युवा भी स्वरोजगार के रूप में अपनी आर्थिक स्थिति को मजबूत कर सके। मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के तहत घर में देसी मधुमक्खी पालने वालों को सरकार द्वारा प्रति छत्ता 1000 रुपए दिए जाएंगे।

अगर आप भी हिमाचल प्रदेश के बेरोजगार नागरिक है और मधुमक्खी पालन कर लाखों रुपए कमाना चाहते हैं तो आपको यह आर्टिकल विस्तार पूर्वक तक पढ़ना होगा। क्योंकि आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana 2024 से संबंधित संपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराने जा रहे हैं। तो आईए जानते हैं मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के बारे में।

मुख्यमंत्री

HP Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana 2024

हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा शहद के व्यावसायिक उत्पादन में क्रांति लाई जा सके इसके लिए मुख्यमंत्री मधु विकास योजना को शुरू किया गया है। इस योजना को बागवानी विभाग द्वारा जिले के ग्रामीण क्षेत्र तक पहुंचाने के लिए ग्रामीण स्तर पर विभिन्न शिविरों का आयोजन भी किया जा रहा है। जहां मधुमक्खी पालन योजना के बारे में जानकारी प्रदान की जाएगी। हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा घरों में देसी मधुमक्खी पालने वाले को प्रति छत्ता 1000 रुपए दिए जाएंगे। मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के तहत मधुमक्खी पालन करने वाले लाभार्थी को 50 मधुमक्खी बॉक्सों या यूनिट तक बागवानी विभाग द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान करने हेतु 80% सब्सिडी प्रदान की जाएगी।

सरकार द्वारा सभी ज़रूरी सामग्री उपकरणों पर प्रति एक सेट पर 20,000 रुपए प्रति इकाई लागत पर 80% अर्थात 16,000 रुपए की सब्सिडी प्रदान की जाएगी। इस योजना के तहत हिमाचल प्रदेश के हर ब्लॉक मुख्यालय पर विभाग की ओर से एक-एक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जाएगा।

हिमाचल लघु दुकानदार कल्याण योजना

हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री मधु विकास योजना 2024 के बारे में जानकारी

योजना का नाम Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana
शुरू की गई हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा
संबंधित विभाग बागवानी विभाग
लाभार्थी राज्य के बेरोजगार नागरिक
उद्देश्य बेरोजगार युवाओं को बागानों में मधुमक्खी पालन के लिए प्रेरित करना
राज्य हिमाचल प्रदेश
साल 2023
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन/ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइट https://eudyan.hp.gov.in/

Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana 2024 का उद्देश्य

मुख्यमंत्री मधु विकास योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य बेरोजगार युवाओं को बागानों में मधुमक्खी पालन के लिए प्रेरित करना है। ताकि युवा स्वरोजगार को अपनाकर इस योजना के तहत 80% सब्सिडी का लाभ प्राप्त कर सके। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण इलाकों में समृद्धि लाई जाएगी जिससे किसान परिवारों की आमदनी भी दुगनी होगी। मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के अंतर्गत उत्पादित होने वाले शहद को अन्य राज्य में बेचकर बड़ी रकम हासिल की जा सकेगी। यह योजना हिमाचल प्रदेश में शहद उत्पादन के साथ-साथ बागवान के क्षेत्र में भी क्रांति ला रही है।

योजना के तहत हर ब्लॉक में शिविरों का किया जाएगा आयोजन

हिमाचल प्रदेश के हर हर ब्लॉक मुख्यालय पर मधु विकास योजना के अंतर्गत विभाग की ओर से एक-एक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जाएगा। इन शिविरों में मधुमक्खी पालन और योजना के बारे में जानकारी प्रदान की जाएगी। राज्य में प्रशिक्षण शिविर के तहत लाभार्थी को ट्रेनिंग भत्ता भी प्रदान किया जाएगा। विभाग की ओर से दी जाने वाली ट्रेनिंग साल में एक बार 5 दिनों के लिए होगी। इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए अमलीजामा पहनाने के लिए पहले उम्मीदवार को बागवानी विभाग की ओर से प्रशिक्षण लेना आवश्यक होगा। इसके पश्चात बागवानी विभाग द्वारा प्रशिक्षण प्रमाण पत्र भी दिया जाएगा। तभी इस योजना के लिए आवेदन किया जा सकेगा।

हिमाचल प्रदेश बेरोजगारी भत्ता

1500 मीट्रिक टन शहर का हो रहा उत्पादन

मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के तहत गांव स्तर पर ही हिमाचल प्रदेश के सैकड़ो बेरोजगार नौजवानों को रोजगार मिल रहा है। हिमाचल प्रदेश में वर्तमान समय में प्रतिवर्ष 1500 मीट्रिक टन शहर का उत्पादन किया जा रहा है। सरकार द्वारा इस योजना के माध्यम से शहद उत्पादन को बढ़ाकर दुगना करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। क्योंकि कम समय में ही इस योजना का लाभ बागवान को मिलना आरंभ हो जाता है। मधुमक्खी के डिब्बे रखने के उपरांत मधुमक्खियां एक से दो माह के भीतर ही शहद तैयार कर देती है मार्केट में शहद की इतनी अधिक मांग है कि आपको बाजार में बेचने की बजाय घर पर ही आसानी से बिक्री हो जाती है। आपको बता दे कि इस योजना के माध्यम से बंगाड़ा क्षेत्र के दौलत राम समलाड़ा निवासी 17 लाख रुपए कमा चुके हैं।

मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana के माध्यम से राज्य के बेरोजगार युवा किसानों को मधुमक्खी पालन में उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिए शुरू किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से मधुमक्खियां के 50 बॉक्सो के लिए हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा 80% की सब्सिडी का लाभ दिया जाएगा।
  • अगर कोई किसान या बागवान इस योजना के तहत 300 मधुमक्खियों के बॉक्स को तैयार करता है तो उसे सरकार द्वारा 3 लाख रुपए की उत्पादन राशि दी जाएगी।
  • मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के तहत क्षेत्र की कार्य स्थापित करने के लिए परियोजना की लागत का 100% मधुमक्खी वनस्पतियों के रोपण के लिए भी प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ प्राप्त कर बेरोजगार नागरिक मधुमक्खी पालन के व्यवसाय से जुड़कर आजीविका कमा रहे हैं।
  • हिमाचल प्रदेश के घरों में ही मधुमक्खी पालने वाले लोग भी प्रति छत्ता 1000 रुपए का लाभ प्राप्त कर सकते हैंं।
  • Mukhymantri Madhu Vikas Yojana HP का क्रियान्वयन जिले के बागवानी विभाग द्वारा किया जा रहा है।
  • इस योजना का संचालन करने के लिए राज्य में ट्रेनिंग कैंप भी लगाई जा रहे हैं।
  • हिमाचल प्रदेश में शहद का कारोबार लगभग 5 करोड़ रुपए से अधिक का है।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार हिमाचल प्रदेश के युवाओं को प्रेरित कर स्वरोजगार स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित कर रही है।
  • राज्य के लोग इस योजना के माध्यम से लाखों रुपए का लाभ अर्जित कर रहे हैं।
  • Mukhymantri Madhu Vikas Yojana राज्य में स्वरोजगार को अपनाने के लिए बेरोजगार युवाओं को बागानों में मधुमक्खी पालन के लिए प्रेरित किया जा रहा है।
  • इस योजना के माध्यम से उत्पादन को बढ़ाकर दुगना करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
  • मधुमक्खी पालन योजना हिमाचल प्रदेश में शहद उत्पादन के साथ-साथ बागवानी के क्षेत्र में भी क्रांति ला रही है। जिससे ग्रामीण इलाकों में भी विकास बढ़ाना निश्चित है।

Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana 2024 के लिए पात्रता

  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक को हिमाचल प्रदेश का मूल निवासी चाहिए।
  • राज्य के बेरोजगार युवा, किसान और बागवान इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र होंगे।
  • घरों में देसी मधुमक्खी पालने वाले भी इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैंं।

हिमाचल प्रदेश मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना

मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • निवास प्रमाण पत्र
  • प्रशिक्षण प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता विवरण
  • मधुमक्खी के डिब्बे रखने के स्थल की फोटो

Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana 2024 के तहत आवेदन कैसे करें?

  • मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको हिमाचल प्रदेश बागवानी विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा।
Mukhyamantri
  • होम पेज पर आपको Schemes के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद अगले पेज पर आपको State Schemes के सेक्शन में Mukhymantri Madhu Vikas Yojana के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
Mukhyamantri
  • क्लिक करते ही आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
  • अब आपका आवेदन फार्म में मांगी गई सभी आवश्यक जानकारी को ध्यानपूर्वक दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको आधार कार्ड, पहचान पत्र, मधुमक्खी के डिब्बे रखने के स्थल की फोटो आदि को अपलोड करना होगा।
  • साथ ही आपको बागवानी विभाग द्वारा जारी किया गया प्रशिक्षण प्रमाण पत्र भी अपलोड करना होगा।
  • सारी प्रक्रिया पूरी करने के बाद आपको Submit के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस प्रकार आपकी मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
  • आवेदन करने के बाद आपको अपने स्थानीय बागवानी विभाग के कार्यालय में जाकर संपर्क करना होगा। बहुत कम समय में ही आपको इस योजना का लाभ मिलना आरंभ हो जाएगा।

मुख्यमंत्री मधु विकास योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन कैसे करें?

  • ऑफलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने नजदीकी कल्याण विभाग कार्यालय में जाना होगा।
  • वहां जाकर आपको मधु विकास योजना के अंतर्गत आवेदन करने हेतु फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के बाद आपको उसमें पूछी गई सभी आवश्यक जानकारी को दर्ज करना होगा।
  • इसके बाद आपको सभी जरूरी दस्तावेजों को आवेदन फॉर्म के साथ संलग्न करना होगा।
  • अब आपको यह आवेदन फॉर्म वापस वहीं जमा कर देना होगा जहां से अपने प्राप्त किया था।
  • इसके बाद आपके आवेदन फार्म का सत्यापन किया जाएगा सभी जानकारी सही पाए जाने पर आपको योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana 2024 FAQs

मुख्यमंत्री मधु विकास योजना किस राज्य में शुरू किया गया है? मुख्यमंत्री मधु विकास योजना को हिमाचल प्रदेश में शुरू किया गया है। Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana के अंतर्गत लाभार्थी को कितनी सब्सिडी प्रदान की जाती है? Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana के अंतर्गत लाभार्थी को 80% की सब्सिडी प्रदान की जाती है। हिमाचल प्रदेश में प्रतिवर्ष कितने शहद का उत्पादन होता है? हिमाचल प्रदेश में प्रतिवर्ष लगभग 1500 मीट्रिक टन शहद का उत्पादन होता है। Mukhyamantri Madhu Vikas Yojana का उद्देश्य क्या है? मुख्यमंत्री मधु विकास योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य में मधुमक्खी पालनपुर और मधुमक्खी उत्पादों के उत्पादन के लिए लोगों को प्रोत्साहित करना है। हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा घर में मधुमक्खी पालने पर कितने रुपए का लाभ मिलता है? घर में मधुमक्खी पालने पर प्रत्येक छत्ते पर 1000 रुपए की राशि का प्रावधान किया गया है। क्या मधुमक्खी मधु विकास योजना के तहत अन्य राज्य के नागरिक की आवेदन कर सकते हैंं? जी नहीं मधुमक्खी मधु विकास योजना के अंतर्गत केवल हिमाचल प्रदेश राज्य के नागरिक की आवेदन कर सकते हैंं।


Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *